मध्य प्रदेश में प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन के ज़रिये जलवायु परिवर्तन अनुकूलन पर एक प्रकाश: प्रोफ़ेसर अमिताभ पांडे, भारतीय वन प्रबंध संस्थान, भोपाल

यह शोध पत्र भारतीय वन प्रबंध संस्थान, भोपाल के सहायक प्रोफ़ेसर अमिताभ पांडे द्वारा लिखा गया है|

यदि वर्षा के पैटर्न में हो रहे बदलाव, तापमान में बढोत्तरी को जलवायु परिवर्तन के नज़रिए से देखा जाए तो इससे कृषि और वनों पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ने की संभावना है| वैज्ञानिक तथ्य कृषि पर जलवायु परिवर्तन के बुरे प्रभाव की ओर इशारा करते हैं, हालांकि पारिस्थिकी और अर्थव्यवस्था के बीच जटिल सबंधों को देखते हुए अभी इसके परिणामों का सटीक आंकलन संभव नहीं है|

यह शोध पत्र मध्य प्रदेश में समुदायों द्वारा जलवायु परिवर्तन के तनाव और विशेषकर सूखे के प्रभाव से निबटने के लिए अपनाए गए तरीकों पर केंद्रित हैं| इस शोध के अंतर्गत मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले के दो गाँवों नलझिरी और बांसखो का अध्ययन किया गया|

मध्य प्रदेश में प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन के जरिये जलवायु परिवर्तन अनुकूलन पर एक प्रकाश की पूरी रिपोर्ट अंग्रेजी में पढ़ने के लिए पीडीएफ यहां से डाउनलोड करें:

संसाधन प्रकार:प्रकाशन
प्रकाशित तिथि:मई 31, 2014
सभी चित्र को देखें