मध्यप्रदेश में कृषि: जलवायु परिवर्तन के प्रभाव एवं रणनीतियां

कृषि क्षेत्र जलवायु परिवर्तन के प्रति अत्यधिक संवेदनशील है। जलवायु परिवर्तन खासकर विकासशील देशों में जहाँ मूलरूप से कृषि पर आधारित है, एक वैश्विक चिंता का विषय है। भारत में भी कृषि क्षेत्र में जलवायु परिवर्तन पर अनुकूल हेतु निवेश करने की आवश्यकता है। मध्यप्रदेश में 70 प्रतिशत जनसंख्या का मुख्य व्यवसाय कृषि है। मूलरूप से सीमान्त कृषक जिनकी कम क्षमता तथा प्रदेश का लगभग 72 प्रतिशत क्षेत्रफल वर्षा आधारित है, इस प्रकार कृषि क्षेत्र उच्चतम संवेदनशील हैं। इसलिए राज्य के लिए किसी भी जलवायु परिवर्तन के लिए अनुकूलन कार्ययोजना का मुख्य केन्द्र कृषि ही होना चहिये।

संसाधन प्रकार:कार्यवाही विवरण
प्रकाशित तिथि:जनवरी 21, 2015
सभी चित्र को देखें
जलवायु परिवर्तन के प्रभाव एवं रणनीतियां