मध्यप्रदेश जलवायु परिवर्तन कार्य योजना – सेक्टर पालिसी ब्रीफ: कुछ महत्वपूर्ण मुद्दे

जलवायु परिवर्तन से निपटने की दिशा में, प्रदेश हेतु उपयुक्त शमन और अनुकूलन रणनीतियों में बेहतर समन्वय के लिए यह कार्य योजना कुछ महत्वपूर्ण रणनीयाँ सुझाती है. इनमे कृषि, उद्योग, मानव स्वास्थ्य, पशु स्वास्थ्य सहित शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों जैसे विविध क्षेत्रों में समन्वय की बात शामिल है. 

यह पालिसी ब्रीफ, इस बात का आग्रह करती है कि प्रदेश की सरकार एक व्यापक दृष्टिकोण अपनाते हुए जलवायु परिवर्तन संबंधी चिंताओं को राज्य की विभिन्न विकास परियोजनाओं और नीतियों में शामिल करें. 
साथ ही अंतर-क्षेत्रीय तालमेल बढाने एवं प्राकृतिक संसाधन संरक्षण की प्रक्रिया में उन संसाधनों पर आश्रित लोगों को शामिल करने भी जोर देती है. इसके आलावा महिलाओं एवं मुख्यधारा के बाहर के अन्य समूहों की भूमिका को बढाने और उनपर उचित ध्यान देने की आवश्यकता भी यहाँ रेखांकित की गई है. 

यह दस्तावेज कहता है कि विभिन्न परियोजनाओं को अकेले अकेले चलाने की बजाय जलवायु परिवर्तन के शमन और अनुकूलन की दिशा में उन्हें समन्वित ढंग से चलाया जाए. इस तरीके से कहीं अधिक परिणाम हासिल किये जा सकते हैं. 

यह कार्य योजना राज्य में जलवायु परिवर्तन के सन्दर्भ में कुछ व्यापक रणनीतियाँ प्रस्तावित करती है. इन रणनीतियों का उद्देश्य है, ज्ञान भण्डार को सुद्रढ़ बनाना, सस्ती कुशल एवं नयी तकनीक को बढ़ावा देना, संस्थागत क्षमता वर्धन करना और एप्को के अंतर्गत जलवायु परिवर्तन को समर्पित एक विशेष इकाई की स्थापना करना. 

 

संसाधन प्रकार:नीति संक्षेप
प्रकाशित तिथि:जून 20, 2014
सभी चित्र को देखें